प्रेमचंद जी की जीवनी

प्रेमचंद जी के कुछ उपन्यास के नाम गोदान ,गबन ,सेवा सदन ,प्रतिज्ञा ,कर्म भूमि।,वरदान ,मंगलसूत्र ,रंगभूमि इत्यादि | मुंशी प्रेमचंद का साहित्य उनके बचपन पर आधरित था | क्योकि उन्होंने "सौतेली माँ का व्यवहार ,बाल विवाह ,कलर्क व् किसानो का दुखी जीवन ,ये उन्होंने किशोरावस्था में ही देख लिया |
Saturday, June 12, 2021
India
29,359,155
Total confirmed cases
Updated on June 12, 2021 7:58 am

Latest news

Motivation

News

Must Read

Online Job

Technical Tricks